नए संसद भवन के उद्घाटन की डेट आई…! सामने कांग्रेस ने पीएम मोदी पर कर दिया तंज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 मई को नए संसद भवन का उद्घाटन करने वाले हैं लोकसभा सचिवालय ने गुरुवार को इस बात की जानकारी दी है नए संसद भवन के उद्घाटन की तारीख जैसे ही सामने आई तो पीएम मोदी पर कांग्रेस सरकार ने तंज कस दिया कांग्रेस के एक नेता जयराम रमेश की सबसे पीएम मोदी की पिक्चर पर ट्वीट किया गया कांग्रेस ने गुरुवार को कहा कि नए संसद भवन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा वाली परियोजना है और यहां सवाल यह किया गया कि ऐसी इमारत की जरूरत ही क्या थी जब विपक्ष के माइक बंद कर दिए गए थे विपक्षी दल ने यह भी कहा कि संसद भवन स्थित इमारत नहीं बल्कि बेईमानों की जुबान है।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव जयराम रमेश ने नए संसद भवन में चल रहे काम की समीक्षा करते हुए प्रधानमंत्री की एक पिक्चर को शेयर करते हुए ट्वीट किया ” 28 मई को उद्घाटन किए जाने वाले नए संसद भवन में एकमात्र वास्तुकार डिजाइनर और श्रमिक तस्वीर सब कुछ बयां करती है व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा वाली परियोजना”

मणि कम टैगोर ने भी कर दिया तंज

कांग्रेस के सांसद लोकसभा पार्टी के सचेतन मणिकम टैगोर ने भी ट्विटर पर ट्वीट किया कि संसद भवन सिर्फ ईट और सीमेंट की बनी दीवारों के नहीं हैं, यह बेज़ुबान की जुबान के हैं। उन्होंने सवाल किया कि यह जगह की बात नहीं है।… यह आवाज़ है लेकिन विपक्ष के माइक में बंद हैं, तो इसकी जरूरत ही क्या है।

दिसंबर 2020 में हुआ था नए संसद भवन का शिलान्यास

लोकसभा सचिवालय के बयान के अनुसार, संसद के नवनिर्मित भवन का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने गुरुवार को प्रधानमंत्री मोदी से मुलाकात के बाद नए संसद भवन के उद्घाटन की योजना बताई। उन्होंने लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों की अनुरोध पर नए संसद भवन के निर्माण के लिए भी आग्रह किया था। इसके बाद, 10 दिसंबर को नरेंद्र मोदी जी ने नए संसद भवन के शिलान्यास का उद्घाटन किया।

नए संसद भवन की क्या है खासियत

नए संसद भवन के निर्माण का काम उच्च स्तर पर पूरा किया गया है, जहां एक तरफ भारत की गौरवशाली लोकतांत्रिक परंपराओं और संवैधानिक मूल्यों को समृद्ध बनाने का काम किया जाएगा, वहीं अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त संसद भवन सभी सदस्यों के कार्य को बेहतर तरीके से निष्पादित करने में सहायक होगा। बयान के अनुसार बताया गया है कि नए संसद भवन में लोकसभा में 888 सदस्य और राज्यसभा में 384 सदस्यों की बैठने की व्यवस्था की गई है, जबकि वर्तमान समय में लोकसभा में 550 सदस्य और राज्यसभा में 250 सदस्यों की बैठने की व्यवस्था है।

नए संसद भवन का निर्माण 2 साल पहले ही शुरू हो गया था। इस नयी इमारत से राष्ट्र के शक्ति केंद्र, सेंट्रल विस्ता पुनर्विकास को एक नई प्रकार से आगे बढ़ाने का मकसद है। इसके साथ ही राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक के 3 किलोमीटर तकी सड़क को नवीनीकरण किया जाएगा और प्रधानमंत्री के लिए एक नया कार्यालय और आवास के लिए उपराष्ट्रपति एनक्लेव का निर्माण किया जाएगा। इन सभी कार्यों को लोक निर्माण विभाग का हिस्सा बनाया जाएगा।

Leave a Comment